बी– स्कूल का चयन करते समय छात्रों द्वारा ध्यान रखी जाने वाली बेहद जरुरी बातें

profile Catgories MBA
Pro-banner

इंस्टीट्यूट रैंकिंग 2017 की रिपोर्ट ने कई अलग– अलग क्षेत्रों में कई विशेष तथ्यों पर ध्यान देने की आवश्यक्ता पर गौर करने को विवश किया है.इसकी अनूठी कार्य पद्धति और रैंकिंग सूचकांक के जरिये जो महत्वपूर्ण तथ्य सामने आया है, वह यह है कि बी स्कूलों के चयन करते समय हमें कुछ विशेष बातों का ख्याल रखना चाहिए l हमारे फील्ड सर्वे में छात्रों से एमबीए इंस्टीट्यूट का चयन करने के दौरान वे किन किन बातों का ध्यान रखते हैं, के बारे में पूछा गया. उनमें से शीर्ष चार का वर्णन नीचे किया जा रहा है जिसे एक एमबीए छात्र को हमेशा ध्यान में रखना चाहिए.

इंस्टीट्यूट की प्रतिष्ठा

एमबीए प्रत्याशियों से एकत्र किए गए हमारे फील्ड डाटा ने 'इंस्टीट्यूट की प्रतिष्ठा' को प्रत्याशियों के विकल्प को प्रभावित करना वाला सबसे प्रमुख कारक बताया. प्लेसमेंट और नौकरी की बात करें तो परंपरागत रूप से एमबीए के छात्रों को बी– स्कूल के ब्रांड और प्रतिष्ठा से काफी फायदा होता है. वस्तुतः बी– स्कूल और छात्र दोनों एक दूसरे से अप्रत्यक्ष रूप से प्रभावित होते हैं l जैसे अच्छे बी स्कूल में एडमिशन से सही प्लेसमेंट की अपेक्षा होती है, वैसे ही कैंपस से पास होने वाले मैनेजमेंट ग्रे जुएट्स की उपलब्धियों से बी स्कूल को भी काफी फायदा होता है.

प्लेसमेंट

इंस्टीट्यूट्स के बारे में छात्रों की धारणा की बात के दौरान प्लेसमेंट सहायता दूसरे स्थान पर रहा. किसी भी छात्र के लिए प्लेसमेंट एक महत्वपूर्ण पहलू होता है औऱ इसलिए प्लेसमेंट्स निश्चित रूप से  छात्रों के फैसले को प्रभावित करता है. आंकड़े यह भी बताते हैं कि सिर्फ वेतन ही छात्रों के फैसलों को प्रभावित नहीं करता है बल्कि सही बी– स्कूल का चुनाव करते समय करिअर का तेजी से आगे बढ़ने की संभावना के साथ विभिन्न प्रकार के करिअर अवसर भी प्रमुख भूमिका निभाते हैं.

इंस्टीट्यूट का इंफ्रास्ट्रक्चर ( बुनियादी ढांचा)  

बी– स्कूल की प्रतिष्ठा से काफी हद तक जुड़ा इंफ्रास्ट्रक्चर भी एमबीए कॉलेज का चुनाव करते समय छात्रों के मन में रहता है. बी– स्कूल का इंफ्रास्ट्रक्चर इंस्टीट्यूट के जीवंत अकादमिक संस्कृति (एकेडमिक कल्चर ) का प्रतिबिंब होता है. उदाहरण के लिए, मध्य रात्रि तक खुली रहन वाली लाइब्रेरी बताती है कि वहां किताबों और पत्रिकाओं का अच्छा संग्रह है और छात्र एवं शिक्षक अपनी आवश्यक्ता के अनुरूप उसका प्रयोग कर सकते हैं. दूसरे शब्दों में गुणवत्तापूर्ण इंफ्रास्ट्रक्चर एमबीए इंस्टीट्यूट की गुणवत्तापूर्ण शिक्षा प्रदान करने की प्रतिबद्धता (जो कि संसाधनों चाहे वह वित्तीय हो या कोई और, द्वारा सिमित नहीं है,) को दर्शाता है.

शिक्षकों की गुणवत्ता

किसी भी बी– स्कूल के लिए शिक्षक ' ज्ञान की रक्त– धारा' हो सकते हैं, फिर भी बी– स्कूल के बारे में छात्रों के फैसले को प्रभावित करने वाले कारकों की सूची में यह चौथे स्थान पर है. लेकिन इससे बी– स्कूल की सफलता में उनकी महत्वपूर्ण भूमिका को नकारा नहीं जा सकता. वास्तव में एमबीए इंस्टीट्यूट का चुनाव करते समय प्रत्याशी गुणवत्ता, योग्यता और शिक्षकों के अनुभव पर बहुत गौर करते हैं. छात्र शिक्षक– छात्र अनुपात और बैच की क्षमता के अनुसार स्थायी शिक्षकों की संख्या का अनुपात भी देखते हैं. शिक्षक की गुणवत्ता बी– स्कूल में सीखने के समग्र अनुभव और माहौल का सबूत होता है.

Add Comment