इंस्टीट्यूट (संस्थान) रैंकिंग 2017 - कार्य प्रणाली (मेथेडोलॉजी)

Pro-banner

देश के अग्रणी मीडिया समूह संस्थान एमएमआई ऑनलाइन / जागरण प्रकाशन लिमिटेड (जेपीएल) का हिस्सा तथा भारत की नंबर 1 शिक्षा वेबसाइट जागरण जोश ने दुनिया के सबसे बड़े अनुसंधान एजेंसियों में से एक टीएनएस ग्लोबल के सहयोग से भारत के टॉप इंजीनियरिंग और एमबीए संस्थानों की एक विस्तृत रैंकिंग प्रस्तुत की है l जागरण जोश द्वारा सरकारी और प्राइवेट इंजीनियरिंग और एमबीए संस्थानों का सर्वेक्षण कुछ महत्वपूर्ण मानदंडों के आधार पर किया गया है तथा उन्हें उनकी गुणवत्ता के आधार पर  अलग-अलग श्रेणियों में रैंकिग दी गयी है l

इंस्टीट्यूट रैंकिंग 2017 क्या है?

सही डेटा के आधार पर देश में एमबीए और इंजीनियरिंग संस्थानों का मूल्यांकन करने के लिए इंस्टीट्यूट रैंकिंग 2017 की शुरूआत की गयी है। आज के प्रतियोगी माहौल में प्रोफेशनल हायर एजुकेशन इंस्टिट्यूट की क्वालिटी में विकास की इच्छा के उदेश्य से इस रैंकिंग प्रक्रिया की शुरुआत की गयी है l इस अभ्यास के तहत भारत में स्थित विभिन्न एमबीए और इंजीनियरिंग कॉलेजों में छात्रों के एजुकेशन पावर के साथ इंडस्ट्री परसेप्शन सहित विभिन्न पहलुओं पर गौर किया गया है l

इंस्टीट्यूट (संस्थान) रैंकिंग 2017 के अंतर्गत भारत प्राइवेट संस्थान के छात्रों के विचार तथा कॉर्पोरेट धारणा धारणाओं का समावेश किया गया है जिसे अक्सरहां दूसरे संस्थान नजरअंदाज कर देते हैं l

इंस्टिट्यूट रैंकिंग 2017 क्यों?

अधिकतर रैंकिंग एजुकेशनल इंस्टिट्यूट द्वारा किए सर्वेक्षण के डेटा पर आधारित होते हैं और इनमें विशेषतः एमबीए और इंजीनियरिंग कॉलेजों से संबंधित मुख्य पहलुओं पर ही गौर किया जाता है l फिलहाल आवश्यकता है एक समग्र रैंकिंग ढ़ांचे की जिसके अंतर्गत एमबीए और इंजीनियरिंग कार्यक्रमों की पेशकश करने वाले उच्च शिक्षा संस्थानों का आकलन उनके द्वारा किये जा प्रयासों के आधार पर किया जा सके l

इंस्टीट्यूट रैंकिंग 2017 इस लक्ष्य को पूरा करने के उद्देश्य से डेटा आधारित मानकों और अन्य विशेष पहलुओं को ध्यान में रखते हुए एक बैलेंस अप्रोच के साथ तैयार किया गया है l

इंस्टिट्यूट  रैंकिंग 2017 - क्रियाविधि (मेथेडोलॉजी)

जागरण जोश - टीएनएस 'इंस्टीट्यूट रैंकिंग 2017' सर्वेक्षण को तीन चरणों में संपन्न किया गया। इस अध्ययन का उद्देश्य भारत के टॉप एमबीए और इंजीनियरिंग संस्थानों का चयन करना था।

चरण 1- इंस्टिट्यूट की पहचान

क्रियाविधि: (विचार विमर्श और डेस्क अनुसंधान)

इस चरण के अंतर्गत  जागरण जोश और टीएनएस ने एक व्यापक विचार विमर्श और डेस्क रिसर्च के जरिए देश के टॉप 250 एमबीए और इंजीनियरिंग संस्थानों की सूची तैयार की । एमबीए के लिए, केवल उन संस्थानों का चयन किया गया है जो आवश्यक प्रमाणन के साथ दो साल के फुलटाइम मैनेजमेंट कोर्स की पेशकश करते हैं; जबकि इंजीनियरिंग के लिए उन संस्थानों का चयन किया जो चार साल का फुलटाइम बीटेक प्रोगाम ऑफर करते हैं। शॉर्टलिस्ट की प्रक्रिया के दौरान इन संस्थानों की लोकप्रियता और प्रतिष्ठा पर भी विचार किया गया। संस्थानों का अंतिम चयन विशेषज्ञों के साथ परामर्श के बाद किया गया।

चरण 2 - तथ्यात्मक आंकड़े

पद्धति: (डेस्क रिसर्च एवं फील्ड विजिट)

इस चरण में पहले से ही चयनित संकेतकों के आधार पर जानकारी एकत्र कर डेस्क रिसर्च किया गया। विभिन्न मापदंडों के आधार पर तथ्यात्मक जानकारी के जरिए विभिन्न स्रोतों के माध्यम से 500 संस्थानों की जानकारी एकत्र की गयी। संस्थान की वेबसाइट, एआईसीटीई वेबसाइट, ह्युमन रिसोर्स डेवलपमेंट मिनिस्ट्री की रिपोर्ट, आदि जैसे विभिन्न माध्यमिक स्रोतों का इस्तेमाल करके निम्नलिखित मानकों पर तथ्यात्मक जानकारी का एक पूरा सेट संकलित किया गया:

  • इंस्टिट्यूट की उम्र
  • वहां पढ़ने वाले छात्रों की संख्या
  • स्टूडेंट्स इनरोलमेंट नंबर
  • स्टूडेंट्स इनरोलमेंट नंबर का विभाजन - महिला: पुरुष और स्थानीय बनाम विदेशी नागरिक
  • छात्र: शिक्षक अनुपात
  • प्लेसमेंट
  • एवेन्यू सीटीसी
  • इंडस्ट्री कोलेबोरेशन
  • रिचर्स पेपर और पत्रिकाओं का प्रकाशन
  • फीस

उपरोक्त मापदंडों के अनुसार एकत्र किए गए तथ्यात्मक आंकड़ों के आधार पर, सभी संस्थानों को पहले चरण में एक प्रारंभिक रैंकिंग स्कोर प्रदान की गयी। तीसरे चरण के लिए शुरूआती रैंकिंग स्कोर के आधार पर प्रारंभिक सूची में से 120 टॉप एमबीए और इंजीनियरिंग कॉलेजों का चयन किया गया। टीएनएस की रिचर्स टीम ने एकत्र किए आंकड़ों को सत्यापति किया और दी गयी जानकारी की सत्यता के लिए फील्ड विजिट भी की । तीसरे चरण के लिए उन नियोक्ताओं की सूची तैयार की गयी जिन्होंने कैंपस रिक्रूटमेंट के लिए इन संस्थानों का दौरा किया था।

चरण 3 - छात्रों और नियोक्ताओं का परसेप्शन सर्वे

क्रियाविधि: (फेस-टू-फेस इंटरव्यू और ईमेल / फोन पर प्रतिक्रिया)

दूसरे चरण की प्रक्रिया के तहत चयनित संस्थानों और रिक्रूटर कंपनियों से सर्वेक्षण के लिए टीएनएस टीम द्वारा संपर्क किया गया। परसेप्शन सर्वे छात्रों के साथ फेस- टू- फेस इंटरव्यू के आधार पर किया गया। कंपनियों के एचआर हेड / मैनेजरों की पहचान कर उनसे ई-मेल / फोन के जरिये संपर्क किया गया और उनके फीडबैक को सर्वेक्षण के लिए इस्तेमाल किया गया

स्टूडेंट परसेप्शन पैरामीटर :

छात्रों को अपने तथा अन्य परिचित संस्थान के बारे में नीचे दिए मानदंडो के आधार पर फीडबैक देने को कहा गया  (10 सूत्रीय पैमाना)

  • संस्थान की छवि या प्रतिष्ठा
  • शिक्षकों की गुणवत्ता
  • फैकल्टी बनाम छात्र अनुपात
  • अंतरराष्ट्रीय एक्सपोजर
  • इंडस्ट्री इंटरेक्शन
  • क्लास रूम और बिल्डिंग का इन्फ्रास्ट्रक्चर
  • हॉस्टल की उपलब्धता
  • प्लेसमेंट के लिए इंस्टिट्यूट से सहायता
  • प्लेसमेंट में इंस्टिट्यूट का शानदार प्रदर्शन
  • कुल फीस
  • स्कॉलरशिप की उपलब्धता
  • पैसे की कीमत
  • महिला छात्रों के लिए अनुकूल
  • विदेशी छात्रों के लिए अनुकूल
  • पूर्व छात्रों की सहभागिता
  • मनोरंजन / खेल के लिए सुविधाएं

किसी भी संस्थान का कुल स्कोर उन छात्रों पर निर्भर करता है जो उसे अपने लिए एक सही संस्थान मानने के साथ -साथ दिए गए मापदंडों के आधार पर रेंटिंग देते हैं।

इंडस्ट्री परसेप्शन पैरामीटर:

उन नियोक्ताओं से निम्न मापदंडों के आधार पर सवाल पूछे गए जिन्होंने रिक्रूटमेंट के लिए कैंपस का दौरा किया था। (10 प्वाइंट स्केल)

  • समग्र प्रतिष्ठा / ब्रांड की छवि
  • एडमिशन सिस्टम
  • ज्ञान / छात्रों की बौद्धिक क्षमता
  • उद्योग के लिए प्रासंगिक पाठ्यक्रम (करिकुलम)
  • इंडस्ट्री एक्सपोजर
  • पूर्व छात्रों की संख्या और नेटवर्किंग
  • इंडस्ट्री इंटरफेस की क्वालिटी  (उद्योग बनाम संस्थान)
  • संचार कौशल(कम्युनिकेशन स्किल ) / सकारात्मक रवैया
  • छात्रों की गुणवत्ता

किसी भी संस्थान का कुल स्कोर इसलिए महत्वपूर्ण हो जाता है क्योंकि अधिकतर रिक्रूटर संस्थान का दौरा दी गयी रेंटिंग्स के आधार पर ही करते हैं।

जागरण समूह के बारे में

जागरण समूह मीडिया उद्योग, प्रिंट, डिजिटल, रेडियो, या अन्य क्षेत्र में उत्कृष्टता का पर्याय बन चूका है l इस समूह का नेतृत्व जागरण प्रकाशन लिमिटेड (जेपीएल) कर रहा है। दैनिक जागरण 100 से अधिक संस्करणों के साथ 15 राज्यों में फैले अपने नेटवर्क के साथ अलग-अलग भाषाओं में 12 से अधिक प्रिंट संस्करण प्रकाशित कर रहा है। दैनिक जागरण भारत में सर्वाधिक पढ़ा जाने वाला अखबार है। जागरण समूह का ही एफएम रेडियो चैनल 'रेडियो वन' 39 से अधिक शहरों में अपनी उपस्थिति दर्ज करा चुका है और पिछले 318 सप्ताहों से मुंबई और बैंगलूरू में नंबर वन एफएम बना हुआ है। जागरण न्यू मीडिया (जेएनएम) इसी समूह का डिजिटल विंग है जो 10 डिजिटल मीडिया पोर्टल के साथ भारत के इंटरनेट दर्शकों में 10% तक पहुँच रखती है। जेएनएम हिंदी समाचार, शिक्षा और स्वास्थ्य डोमेन में कार्य कर रहे वेब पोर्टलों में सबसे अग्रणी है।

टीएनएस समूह के बारे में

कंटर टीएनएस एक प्रमुख ग्लोबल लीडर है जो मार्केट रिसर्च से सम्बंधित है। टीएनएस विश्व की सबसे बड़ी रिसर्च एजेंसियों में से एक है जो दुनिया भर में विभिन्न उद्योग कार्यक्षेत्रो की विशिष्ट विकास रणनीतियों पर नजर रखती है। रिसर्च और कंसल्टेशन विषयों के पूरे स्पेक्ट्रम पर काम करने वाला यह एक स्पेशलिष्ट ब्रांड है l यहां 30000 लोग कार्य करते हैं और 100 देशों में ग्राहकों के लिए प्रेरणादायक निरीक्षण और  बिजनेस स्ट्रेटेजी प्रदान करते हैं। टीएनएस नेटवर्किंग कंटर का एक हिस्सा है l यह दुनिया के सबसे बड़े निरीक्षण, सूचना और परामर्श देने वाले समूहों में से एक है l इसे अपने व्यावसायिक मूल्यों (प्रोफेशनल वैल्यू) के लिए जाना जाता है। कंटर डब्ल्यूपीपी का हिस्सा है और यह अपनी सेवाएं फॉर्च्यून शीर्ष 500 कंपनियों में आधे से अधिक को दे रही है।

Add Comment